भारत में सैटेलाइट रेडियो कैसे काम करता है?

भारत में वाणिज्यिक रेडियो, इंटरनेट रेडियो, व्यावसायिक रेडियो, सामुदायिक और कम्युनिटी रेडियो के साथ साथ इंटरैक्टिव प्रसारण भी मिलता है। Satellite Radio

सैटेलाइट रेडियो एक डिजिटल रेडियो ब्रॉडकास्ट है जिसका प्रसारण GSAT-15  सैटलाइट से किया जाता है यह स्थानीय एफएम रेडियो स्टेशन की तुलना में काफी विस्तृत भौगोलिक क्षेत्र में इसे सुना जा सकता है। 

मान लीजिये आप भारत के किसी दूर गांव में रहते है तो वहां पर आपको स्थानीय एफएम तो मिलेगा नहीं। हाँ MW (Mediaum Wave ) और SW (Short  Wave ) का प्रसारण अवश्य मिलता है लेकिन क्वालिटी वही पुराने जमाने वाली मिलती है। लेकिन सैटलाइट रेडियो को आप भारत के कोने कोने में प्राप्त कर सकते है। जिसमे राष्ट्रीय All India Radio (AIR ) के चैनल्स तो मिलते ही है साथ ही साथ आपको  All India Radio (AIR ) के प्रादेशिक और लोकल चैनल भी सुनने को मिल जाते है। 

2000 के दशक की शुरुआत में अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार द्वारा डीडी फ्रीडिश के साथ सैटेलाइट रेडियो की शुरुआत की गई थी, जिसे बाद में डीडी डायरेक्ट प्लस के रूप में जाना जाता था, जिसे 2004 में लॉन्च किया गया था। श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार के दौर में नए सिरे से बनाए जाने के बाद, हाल के वर्षों में इस प्लेटफॉर्म में तेजी से वृद्धि हुई है।

इसमें आपको वाणिज्यिक रेडियो, FM रेडियो, व्यावसायिक रेडियो, सामुदायिक रेडियो और कम्युनिटी रेडियो के साथ साथ इंटरैक्टिव प्रसारण भी मिलता है। 

भारत में सैटलाइट रेडियो कैसे प्राप्त करे?

भारत में सैटलाइट रेडियो का प्रसारण प्राप्त करने के लिए आपको एक डिश ऐन्टेना और फ्री-टू-एयर सेट-टॉप बॉक्स की आवश्यकता होगी।  आप उस सेट टॉप बॉक्स में किसी भी प्रकार का ऑडियो एम्पलीफायर लगा कर डिजिटल ऑडियो प्राप्त कर सकते है। आप ऑडियो एम्पलीफायर की जगह Home Theater भी लगा सकते है। 

सैटलाइट रेडियो के प्रसारण में आपको FM Rainbow और विविध भारती का राष्ट्रीय प्रसारण भी मिलता है।  

भारत में वाणिज्यिक रेडियो, इंटरनेट रेडियो, व्यावसायिक रेडियो, सामुदायिक और कम्युनिटी रेडियो के साथ साथ इंटरैक्टिव प्रसारण भी मिलता है। Satellite Radio

भारत में आपको सॅटॅलाइट रेडियो प्रसारण के तहत आपको ऑल इंडिया रेडियो (एआईआर) के राष्ट्रीय चैनल और ऑल इंडिया रेडियो (एआईआर) के क्षेत्रीय और स्थानीय चैनल सुनने को मिलेंगे। यहाँ आप सॅटॅलाइट रेडियो की चैनल लिस्ट मिल जाएगी।



FAQs -

सैटेलाइट रेडियो कैसे काम करता है?

सैटेलाइट रेडियो, GSAT-15 सॅटॅलाइट से सिग्नल प्राप्त करता है जो 93.5 डिग्री पूर्व में स्थित है।    

सैटेलाइट रेडियो का क्या फायदा है?

सैटेलाइट रेडियो में प्राप्त होने वाले सिग्नल डिजिटल है, जिसका अर्थ है कि आप जहां भी जाएंगे आपको क्रिस्टल-क्लियर ध्वनि मिलेगी।

सैटेलाइट रेडियो की शुरुआत कैसे हुई?

भारत में सैटेलाइट रेडियो की शुरुआत की शुरुआत डीडी फ्रीडिश के साथ 16 December 2004 को श्री अटल बिहारी बाजपेयी द्वारा शुरू किया गया था। 


English

ViewCloseComments