अब विविध भारती रेडियो पर श्री रामचरित मानस सुनें

श्रीरामचरितमानस एक महाकाव्य है जिसे गोस्वामी तुलसीदास ने लिखा है। ये भारत की ही नहीं बल्कि विश्व की काव्य धरोहर है। जिसमे श्री राम का वर्णन किया गया है। श्रीरामचरितमानस को सामान्यतः 'तुलसी रामायण' या 'तुलसीकृत रामायण' भी कहा जाता है। रामचरितमानस भारतीय संस्कृति में एक विशेष स्थान रखता है। और इसकी लोकप्रियता भारत में नहीं बल्कि विश्व में है।  रामायण की कथाएँ न केवल भारत में बल्कि श्रीलंका, मलेशिया, थाईलैंड और इंडोनेशिया जैसे देशों में भी लोकप्रिय हैं. 

रामायण का प्रसारण दूरदर्शन पर होने के बाद यह अब आपके लिए एक और अच्छी खबर है। 

इसलिए एक बार फिर, विविध भारती रेडियो ने अतीत की यादों को फिर से वापस ला दिया।  उन दिनों रेडियो ही मनोरंजन का प्रमुख साधन था। सुबह सुबह जब हम सोकर जगते थे तो तब श्री राम चरित मानस की धुन बातावरण में तैरती हुयी मिलती थी। ज्यादातर घरो से जिनके पास रेडियो होते थे सिर्फ यही आवाज़ निकलती थी। 

श्री राम चरित मानस का गान अलग अलग कलाकारों की आवाज़ में होता है जिसमे लता मंगेशकर, सुरेश वाडकर, महेंद्र कपूर, मन्ना डे, अनुराधा पौडवाल और कविता कृष्णमूर्ति जैसे जाने माने गायक होते थे। 

अब विविध भारती रेडियो पर श्री रामचरित मानस सुनें

श्री रामचरित मानस का समय -

श्री रामचरित मानस को आप आल इंडिया रेडियो के विविध भारती चैनल पर प्रतिदिन सुबह 6 बजकर 10 मिनट से सुन सकते है। और इसे आल इंडिया रेडियो के राजधानी चैनल FM रेनबो पर  6:30 am बजे सुन सकते है। तो वही इसे 6:45 am से आल इंडिया रेडियो के Indraprastha चैनल, और  FM Gold & AIR Live News 24x7 पर इसी समय सुन सकते है। 

ये सभी रेडियो चैनल आपके अपने डीडी फ्रीडिश पर उपलब्ध है। अगर आप किसी कारण रेडियो चैनल्स को डीडी फ्रीडिश में नहीं सुन प् रहे है तो अपने सेट टॉप बॉक्स को दुबारा से ट्यून कर सकते है। 

आप श्री रामचरित मानस को ऑनलाइन डाउनलोड भी कर सकते है और सुन भी  सकते है, श्री रामचरित मानस के कुछ रेडियो एपिसोड यहाँ लिस्ट है। 

डीडी फ्रीडिश में रेडियो चैनल कैसे सुने ?

डीडी फ्रीडिश में रेडियो चैनल सुनने के लिए आपको अपने रिमोट से "Audio" बटन दवाये और सभी रेडियो चैनल्स की लिस्ट देखे।

  

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां